उज्जैन -अजय नीमा की रिपोर्ट। थाना माधवनगर के अन्तकर्गत 32 वी वाहिनी उज्जै न के परिसर में प्रधान आरक्षक बलवीर सिंह उम्र 54 साल मृत अवस्था में अपने क्वाटर के उपर छत पर पाए गए थे। मृत्यु की असामान्य परिस्थिति होने पर थाना माधवनगर में मर्ग पंजीबद्ध कर प्रारंभिक जांच में मृत्यु का Nature (प्रकृति) होमीसाईडल Homicidal पाया गया। घटना की गंभीरता को देखते हुए स्वसयं पुलिस महानिरीक्षक श्री राकेश गुप्ता्, पुलिस उप महानिरीक्षक  श्री मनीष कपूरिया, पुलिस अधीक्षक जिला उज्जैन श्री मनोज कुमार सिंह, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्री अमरेंद्र सिंह जोन 2 व शहर श्री रूपेश दिवेदी घटना स्थल पर पहुंचकर मृतक के क्वार्टर तथा घटना स्थ ल का बारिकी से निरीक्षण किया तथा घटना स्थ्ल पर एक घंटे से भी ज्यादा रहकर मृतक के परिजनों, आसपास के कर्मचारियों, उनके परिवारजनों से विस्ताजर से पूछताछ की एवं उक्तप सनसनीखेज घटना की पतासाजी दिशा निर्देश जारी किए गए । प्रकरण की संवेदनशीलता को दृष्टिगत रखते हुए पुलिस अधीक्षक श्री मनोज कुमार सिंह द्वारा अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक, जोन-02 श्री अमरेन्द्रर सिंह एवं नगर पुलिस अधीक्षक रविन्द्र वर्मा के नेतृत्व, में इस अंधे कत्ल की गुत्थी सुलझाने के लिए टीम गठित की ।
थाना माधवनगर में उक्तक घटना के संबंध में अपराध क्रमांक 730/20 धारा 302, 201 भादवि अज्ञात आरोपियों के विरूद्ध कायम कर विवेचना प्रारंभ की गई। प्रारंभिक जांच में मृतक बलवीर सिंह का पत्नी रेखा उम्र 34 साल के साथ विवाद होने की जानकारी प्राप्त हुई, जिस पर पूछताछ करने पर पत्नी रेखा द्वारा पूर्व में योजना तैयार कर अपने प्रेमी रवि निवासी शहडोल के साथ मिलकर क्वाीर्टर के अंदर ही बलवीर सिंह का गला दबाकर हत्या कर दी ।तथा डेड बॉडी को सामान्य परिस्थितियों को दर्शाने के लिए छत पर बिस्तर बिछाकर लेटा दिया । पत्‍नी रेखा द्वारा स्वयं को बचाने के लिए क्वार्टर में अंदर होकर बाहर से अपने साथी रवि से दरवाजा बंद करवा दिया ताकि किसी प्रकार का संदेह उसके उपर न हो, घटना कारित करने के बाद रवि फरार हो गया।
पूछताछ में पत्नी रेखा द्वारा यह स्वीकार किया की हत्या की योजना रवि के साथ मिलकर काफी समय पूर्व ही बना ली थी योजना के तहत मृतक बलवीर सिंह का माह मार्च में 40 लाख का बीमा मेक्स लाईफ इंश्योरेंस उज्जैन से कराया। जिसकी आधी प्रीमियम राशि 25 हजार रूपये रवि के द्वारा दिया गया तथा 20 हजार रूपये रेखा ने दिये तथा यह निश्चित किया कि बीमा की राशि हत्या करने के पश्चात आधी-आधी दोनेां बांट लेंगे । इससे पूर्व रेखा अपने पति प्रधान आरक्षक बलवीर से झगडा होने के कारण पिछले साल दिसम्बर माह में लगभग 25 दिन बाहर रवि के साथ जबलपुर, कटनी, मण्डला, रायपुर में अलग- अलग होटलों में रूके, उसी दौरान इन दोनों ने प्रधान आरक्षक की हत्या की योजना तैयार कर ली थी।
घटना का मुख्य आरोपी रवि कुमार पनिका शहडोल का रहने वाला है। तथा वर्तमान में सी.आर.पी्.एफ. रायपुर में तैनात है । मुख्ये आरोपी रवि की धरपकड हेतु उज्जैन पुलिस की टीमों को रवाना किया गया है । इस घटना को अंजाम देने में अन्य आरोपियों की सहभागिता के संबंध में रेखा से पूछताछ की जा रही है । इस अंधे कत्ल को सुलझाने पर उपुअ (परि) सुश्री नीलम बघेल, थाना प्रभारी माधवनगर श्री पी.एन. शर्मा, उप निरीक्षक प्रीति सिंह, उनि, सलमान कुरेशी, सउनि उषा तिवारी, प्रधान आरक्षक संतोष ,धर्मेन्द्र , आरक्षक सुनील पाटीदार, अनिल लोकेन्द्रर, आनंद, महिला आरक्षक प्रतीक्षा, राधिका, ज्यो,ति, खुशबू आदि की उल्लेअखनीय भूमिका रही। श्रीमान पुलिस महानिरीक्षक महोदय उज्जै्न जोन, उज्जैुन द्वारा उक्तल टीम को 25000 रूपये का नगद ईनाम दिये जाने की घोषणा की ।

 

यूट्यूब चैनल कैसे बनाये और पैसे कैसे कमाए

समाचार एवं विज्ञापन हेतु संपर्क करें 

प्रधान संपादक : प्रताप भुरिया 

मो. 8815814201

झाबुआ, रतलाम एवं धार की खबरे पड़ने के लिए अभी हमारे Facebook Page को Like करे -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here