चीन कर रहा हे भारत पर आक्रमण की तैयारी

नई दिल्ली; दुनिया में खूनी खेल खेलने वाले पाकिस्तान और कोरोना वायरस फैलाकर पूरी दुनिया में तबाही के लिए जिम्मेदार ठहराए जा रहे चीन ने अब साथ मिलकर भारत और पश्चिमी देशों में बर्बादी करने के लिए तीन साल की सीक्रेट डील की है। इस डील में क्लाक्सोन ने कई इंटेलिजेंस एजेंसियों के हवाले से बताया है कि जैविक युद्ध क्षमता विस्तार में घातक संक्रामक एजेंट एंथरेक्स सहित कई रिसर्च प्रॉजेक्ट को शामिल किया गया है।

इस बात का खुलासा एक रिपोर्ट में किया गया है जिसको लेकर सिक्योरिटी एक्सपर्ट एंथोनी क्लान ने एक आर्टिकल भी लिखा है।

 चीन कर रहा हे भारत पर आक्रमण की तैयारी

वुहान लैब ही चुकाएगी सारा खर्च
इस रिपोट्र्स में यह बात सामने आई हैं कि चीन दुनिया की नजरें खुद से हटाकर जैविक युद्ध के लिए पाकिस्तान को केंद्र बना रहा है। इसके मुताबिक, वुहान की जिस लैब से कोरोनावायरस के निकलने का दावा अमेरिका कर रहा है, उसने पाकिस्तान के साथ मिलकर जैविक युद्ध की तैयारी की साजिश रचना शुरू कर दिया है। निशाने पर भारत के अलावा पश्चिमी देश जैसे अमेरिका भी हो सकते हैं। इन देशों को संक्रामक बीमारियों का निशाना बनाया जाएगा। चीन ने पाकिस्तान के वैज्ञानिकों को इस बारे में डाटा और दूसरी जरूरी जानकारियां उपलब्ध करा दी हैं। इस रिसर्च में जितना भी खर्च होगा उसे वुहान लैब ही चुकाएगी।

Mp Board 12th Result 2020 | देखे एमपी बोर्ड 12वीं परीक्षा रिजल्ट

कॉलेज के छात्रों के लिए बड़ी खबर । College exam time table

 चीन कर रहा हे भारत पर आक्रमण की तैयारी

इस गोपनीय समझौते ने बढ़ाई चिंता
इस रिपोर्ट में ऐंथनी क्लैन ने कहा है कि वुहान लैब ने पाकिस्तान की मिलिट्री डिफेंस साइंस ऐंड टेक्नॉलजी ऑर्गनाइजेशन के साथ उभरती संक्रामक बीमारियों पर रिसर्च और संक्रामक बीमारियों के जैविक नियंत्रण के लिए समझौता किया है। पाकिस्तान के साथ चीन के इस गोपनीय समझौते से चिंता बढ़ गई है। चीन कोरोना वायरस के मुद्दे पर वैश्विक रूप से घिरने से सबक लेते हुए अपनी सीमा से बाहर जैविक हथियारों पर टेस्टिंग करना चाहता है। राहत वाली बात यह है कि भारत और पश्चिमी देशों की इंटेलिजेंस एजेंसीज को इस बारे में जानकारी मिल चुकी है।

 चीन कर रहा हे भारत पर आक्रमण की तैयारी

यह है एक्सपर्ट का मानना
वहीं चीन और पाकिस्तान की डील पर एक्सपर्ट का मानना है कि चीन यह चाहता है कि खतरनाक बायो केमिकल रिसर्च के लिए पाकिस्तान को केंद्र की तरह पेश कर सके और खुद किसी आलोचना से बच सके। क्यों कि पहले ही कोरोना फैलाने को लेकर चीन की पूरी दुनियां में काफी आलोचना हो रही है। साथ ही भारतीय और पश्चिमी इंटेलिजेंस एजेंसियों का कहना कि चीन इस प्रॉजेक्ट से इसलिए जुड़ा है ताकि भारत और पाकिस्तान को एक-दूसरे के खिलाफ खड़ा किया जा सके।

hinglish to hindi translator – hindi translator online

 

समाचार एवं विज्ञापन हेतु संपर्क करें 

प्रधान संपादक : प्रताप भुरिया 

मो. 8815814201

झाबुआ, रतलाम एवं धार की खबरे पड़ने के लिए अभी हमारे Facebook Page को Like करे -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here